Home » Spirituality अध्यात्म » Saint Speak संत वचन

Saint Speak संत वचन

भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला

भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला, कौसल्या हितकारी॥

रामनवमी पर्व की बधाई, मंगल कामनाएं!! आनंद लीजिये गोस्वामी तुलसीकृत रामचरित मानस की रामावतरण चौपाईयों का, जिन्हें लगभग सभी शीर्ष गायकों ने स्वरबद्ध किया है.… Read More »भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला, कौसल्या हितकारी॥

जीवन है संग्राम

मन चंचल, चल राम शरण में – यही है आनन्द की सही कुन्जी

    मनसा वाचा, कर्मणा, मैं हूँ मेरे राम, अर्पित तेरी शरण में, सहित कर्म शुभ काम ॥ मन चंचल, चल राम शरण में राम… Read More »मन चंचल, चल राम शरण में – यही है आनन्द की सही कुन्जी

जगत का बोध

जगत का बोध – सभी को खुश रखना असंभव है

एक सीधा सादा वैरागी साधू जिसे जगत का बोध नहीं था; विचरण करते करते थका, प्यासा हो गया था. चलते चलते एक नदी के पनघट… Read More »जगत का बोध – सभी को खुश रखना असंभव है

निष्ठा

परमपूज्य डॉ. विश्वामित्र जी महाराज साधक को एक ही मंत्र व एक ही गुरु में निष्ठा होनी चाहिये ! गुरु व मंत्र पर अटूट विश्वास… Read More »निष्ठा