fbpx

Life Facts जीवन सार

मायाजाल

रात हो गई थी। एक इंसान घने जंगल में भागा जा रहा था। अंधेरे में कुआं दिखाई नहीं दिया और वह उसमें गिर गया। गिरते-गिरते कुएं पर झुके पेड़ की एक डाल उसके हाथ में आ गई। जब उसने नीचे झांका, तो देखा कि कुएं में अजगर मुंह खोले उसे देख रहा है |

जीवन सार

जीवन सार – क्या सच है, क्या नहीं

जीवन का उद्देश्य उसी चेतना को जानना है – जो जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त है। उसे जानना ही जीवन सार है, मोक्ष है..!! जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त कौन है ? जिसने स्वयं को, उस आत्मा को जान लिया – वह जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त है..!! संसार …

जीवन सार – क्या सच है, क्या नहीं Read More »

अहंकार

अहंकार का मार्ग पतन की ओर ले जाता है

कभी कभी भक्तो में भी अहंकार हो जाया करता है; पर प्रभु राम भी वचनबद्ध हैं. वे अपने भक्तो का अभिमान निश्चय ही भंग कर दिया करते है चाहे इस के लिये उन्हें कोई भी मार्ग ही क्यों न अपनाना पड़े! श्री हनुमान जी संजीवनी बूटी का पहाड़ उठाये आकाश मार्ग से वापिस लंका की ओर …

अहंकार का मार्ग पतन की ओर ले जाता है Read More »

error: Content is protected !! Please contact us, if you need the free content for your website.