जीवन है अनमोल जीवन सार जीवन का अर्थ जीवन उपहार है

जीवन है अनमोल – जानिये, कितने भाग्यशाली हैं आप

जीवन के कई अर्थ लगाये जा सकते हैं. लेकिन सभी अर्थ और भावार्थ एक ही लक्ष्य को इंगित करते हैं. कि ‘जीवन है अनमोल’

बुरा कहने से बचें…

सोचिये उनके बारे में, जो बोल भी नहीं सकते.

हमें वाणी मिली है…. कितनी बड़ी ईश्वरीय देन है.

जब मुख-जिव्हा स्वादिष्ट व्यंजन ही पसंद करते हैं. तो फिर इन्हें किसी की निंदा, चुगली से क्यों बिगाड़ा जाये.

भोजन में कमियां निकालने से पहले…

सोचिये उनके बारे में, जिन्हें दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं. जिन्हें रूखी सूखी बासी रोटी भी अमृत तुल्य लगती है.

शुक्र मनाईये उस सर्व-समर्थ का, जो आपको बेहतरीन आहार दे रहा है.

अपनों की गलतियाँ गिनाने से पहले…

सोचिये उनके बारे में, जिनका कोई जीवनसाथी नहीं, भाई बहन, सगे सम्बन्धी नहीं. और उन्हें भी, जो संतान को तरसते हैं.

ज़िन्दगी से मायूस होने से पहले…

सोचिये उनके बारे में, जो बिना पूरा जीवन जिये इस दुनिया से विदा हो गए.

ईश्वर की अपार कृपा है कि आप ज़िन्दा हैं. और शायद इसलिए, कि ईश्वर आपको मज़बूत देखना चाहता है.

अपने रोज़गार में खामियां देखने से पहले…

सोचिये उनके बारे में, जो किसी भी प्रकार की नौकरी को तरस रहे हैं.

छोटे से छोटा व्यवसाय करना चाहते हैं.

लेकिन साधनवान नहीं हैं.

बड़े वाहन की चाहत में छोटे वाहन को कोसने से पहले…

सोचिये उनके बारे में, जो क़दमों से ही सफ़र करते हैं.

दूसरों पर ऊँगली उठाने से पहले…

याद रखिये, कोई भी पाप रहित नहीं, हम भी नहीं.

यह भी याद रखिये, हम सब एक ही ईश्वर की संतान हैं.

जब आप चिंता, भय से ग्रसित हो रहे हों…

मुस्कुराईये, और प्रभु को धन्यवाद दीजिये, कि आप जिंदा हैं और दुनिया में जमे हुए हैं.

चिंता करने से काम नहीं बनने वाला और न ही भय करने से निर्भयता आयेगी.

जीवन है अनमोल – यही है मूल मन्त्र

जब आप अनमोल का मोल जानेंगे तो समझेंगे… कितने बड़े भाग्यशाली हैं आप.

हानि-लाभ, जीवन-मरण, यश-अपयश विधि हाथ.

चिंता – भय, सुख – दुःख सभी, हैं  निज मन के राग.

नकारात्मकता किसी काम की नहीं होती.

मन को शक्तिमान बनाईये.

मांगिये उस सर्वशक्तिमान से…

एकांत में, आत्मा में…

पैसा वैभव मत मांगिये. संकल्पशक्ति मांगिये, निर्भयता मांगिये… अवश्य मिलेंगे.

और जब यह मिलेंगे, तो पैसा वैभव दोनों ही आपके सामने हाथ जोड़ खड़े मिलेंगे.

सन्देश बंद करने से पहले, कृपया उनसे शेयर करने की सोचिये जिन्हें आप चाहते हैं, प्रेम करते हैं.

शायद यह पंक्तियाँ किसी के जीवन में सकारात्मकता ला सकें.

ईश्वर करे,

आप सदा प्रसन्न रहें,

सन्तोषी रहें,

धन्य रहें,

सौभाग्यशाली रहें.


मूल लेख साभार: सोशल मीडिया में प्रसारित एक अंग्रेजी पोस्ट. लेखक, अज्ञात.





 

Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2017
शेयर कीजिये

आपके सुझाव - कमेंट्स

Posted in Life Facts जीवन सार.