अमरुद – गज़ब का पोषक फल, लाजवाब स्वास्थ्य लाभ

अमरूद एक ऐसा फल है जिसे आप उत्कृष्ट आहार (super food) कह सकते हैं.

इसके इतने फायदे हैं कि जानने के बाद निश्चित रूप से इस फल को खाना चाहेंगे.

यह अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है, क्योंकि इसमें पर्याप्त विटामिन, फाइबर, उर्जा और खनिज होते हैं.

त्वचा, बालों, और स्वास्थ्य के लिए अमरूद के गजब के फायदे जाने गये हैं.

इस के गजब के फायदों के लिए, आपको एक ताजा अमरुद काटने भर और उसे खाने की जरूरत है.

अमरुद के अन्य नाम

अमरूद को अंग्रेजी में ‘ग्वावा’ (Guava) कहा जाता है,

तेलुगू में ‘जामापंडू’, तमिल में ‘कोया पज़ाम’, मलयालम में ‘नट्टू पेरका’, कन्नड़ में ‘सिबेकायी’,

गुजराती में ‘जाम फाल’, मराठी में ‘पेरू’, पंजाबी में ‘अमरूद’ और बंगाली में ‘पेरा’ कहते हैं.

अमरुद सभी जगह पाये जाने वाला फल है लेकिन इनकी कठोरता और इनमें बीज होने के कारण कई बार लोग इन्हें नहीं खाते.

इसमें भरपूर विटामिन सी होता है

और त्वचा को अच्छा रखने के लिए फायदेमंद कैरोटीन (carotene) और एंटीऑक्सिडेंट (antioxidants) भी होते हैं.

अमरुद कच्चे और पक्के सब तरीके से खाये जाते हैं.

इसे मीठे और स्वादिष्ट पकवानों में, पौष्टिक बनाने के लिए डाला जाता है.

अमरूद का रस और शेक एक ताजगी देने वाला ड्रिंक (drink) भी है.

डायबिटीज का इलाज - कसैले आहार diabetes ka ilaj upchar gharelu upay in hindi

 

आईये, अमरूद से आपके स्वास्थ्य के लिए होने वाले फायदों पर एक नजर डालते हैं:

विटामिन सी से भरपूर 

अमरूद में विटामिन सी बहुत अच्छी मात्रा में होता है

जो कैंसर जैसी खतरनाक बिमारियों से कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करता है.

मधुमेह से बचाव और पाचन तंत्र की सफाई

अमरुद में खूब सारा फाइबर होता है.

फाइबर रक्त में चीनी के स्तर को कम करने के लिए अच्छा काम करता है.

साथ ही, पाचन तंत्र को साफ करने और आंतों से मल को हटाने के लिए भी फाइबर अच्छा माना जाता है.

जितना अधिक आपका सिस्टम साफ रहेगा, उतना ही अंदर से खुश आप होंगे.

आँखों के लिए उत्तम

आँखों की अच्छी रौशनी के लिए विटामिन ए या रेटिनोल बड़ी भूमिका निभाते हैं.

अमरूद में बहुत सारा रेटिनोल होता है,

इसलिए अगर आपको गाजर पसंद नहीं  हैं, तो आप आँखों की दृष्टि सुधारने के लिए अमरूद ले सकते हैं.

फोलेट का खजाना

अमरुद में एक विटामिन होता है जिसे फोलेट कहते हैं.

यह आपके अंदर नयी कोशिकाओं को बढ़ावा देने में मदद करता है.

और DNA की खराबी को भी सुधारता है.

रक्तचाप नियंत्रण

अमरुद में मौजूद पोटेशियम रक्तचाप के स्तर को सही करने में मदद करता है.

रक्त संचार सुधरने से हमारा मस्तिष्क बेहतर काम कर पाता है.

ऐसा पाया गया है कि ये शरीर में अत्यधिक सोडियम के नकारात्मक प्रभावों को सही करने में मदद कर सकता है

पोटैशियम चर्बी को घटाकर वजन कम करने में भी मदद करता है.

एक अमरुद में यह खनिज 688 mg होता है जो कि केले से 63% ज्यादा होता है! 

थायराइड को सही रखता है

इसमें ट्रेस तत्व तांबा होता है जो थायराइड ग्रंथि के सही तरीके से काम करने लिए बहुत अच्छा होता है.

अगर थायराइड ग्रंथि सही तरीके से काम ना करे तो बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्यायें हो सकती हैं.

मैंगनीज से भरपूर

अमरुद में खूब सारा मैंगनीज होता है जो शरीर को भोजन के अन्य जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदद करता है. 

जब हमारा भोजन सही तरीके से पचता है,

तो हमें आसानी से बायोटिन, विटामिन इत्यादि जैसे सभी प्रमुख पोषक तत्व भी मिल जाते हैं.

तंत्रिका तंत्र को शांत रखता है

अमरूद में बहुत सारा मैग्नीशियम भी होता है जो हमारी तंत्रिका को शांत रखने के लिए जरूरी होता है.

इसलिए, कड़ी मेहनत करने के बाद, एक अमरूद खाईये

जो आपकी मांसपेशियों को आराम करने और आपके सिस्टम को सही तरीके से काम करने में मदद करेगा.

दिमाग को मजबूती देता है

ये रक्त के प्रवाह को अच्छा बनाए रखने

और रक्त में विटामिन बी3 के साथ विटामिन बी6 को बखूबी मिलाकर मस्तिष्क को सकारात्मक रखने में मदद करता है.

चीनी का अवशोषण धीमा कर देता है

ये रक्त में चीनी के अवशोषण कम करता है जिसके कारण वजन कम करने में मदद मिलती है

और यही गुण इसे मधुमेह के लिए भी बेहद उपयोगी बनता है (1).

भरपूर फाइबर

फाइबर से भरपूर होने के कारण आप इसको खाके ज्यादा समय तक ताजा महसूस करते हैं.

एक अमरूद में 9 ग्राम फाइबर होता है.

फाइबर वजन घटाने में इन तरीकों से आपकी मदद करता है (2)

  1. आपके शरीर द्वारा अवशोषित संतृप्त वसा की मात्रा को कम करने में मदद करता है
  2. यह भोजन के पाचन को बेहतर बनाता है, चर्बी को जलाता हैऔर कब्ज को रोकता है.

3.फाइबर की अधिकता के कारण, अमरुद शरीर के पाचन तंत्र की बहुत अच्छी सफाई करता है

जिससे जहरीले और दूषित पदार्थ शरीर से निकल जाते हैं.

इसलिए ये वजन घटाने में कमाल का काम करता है.

कोलेस्ट्रॉल-रहित और कम कार्बोहाइड्रेटस युक्त

अमरूद से वजन घटने का एक कारण यह भी है कि इसमें जरा भी कोलेस्ट्रॉल नहीं होता

और कार्बोहाइड्रेट भी बहुत कम होता है, इसलिए पचता भी जल्दी है (3).

इस कारण, यह आपको हृदय रोग सहित कई बीमारियों से भी बचाता है.

जीवाणुरोधी (Antibacterial)

अमरूद का रस एक जीवाणुरोधी एजेंट के रूप में कार्य करता है.

इसमें आपके शरीर के किसी भी खुले ऊतक को कम करने और सिकोड़ देने की क्षमता है.

जो टोक्सिंस और बैक्टीरिया को शरीर से बाहर कर देता है.

शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपीन युक्त

लाइकोपीन एक ऐसा शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक जाना जाता है.

गुलाबी अमरुद में मौजूद लाइकोपीन की मात्रा टमाटर से दोगुनी होती है.

एक गुलाबी अमरूद में आपको आम तौर पर  2.9 ग्राम लाइकोपीन मिलेगा.

इस लाइकोपीन के हमारे शरीर के लिए कई बड़े फायदे हैं:

i) लाइकोपीन विटामिन A, B, C और पोटैशियम के साथ मिलकर,

आपके शरीर को हानिकारक फ्री रेडिकल्स से छुटकारा दिलाने में मदद करता है,

फ्री रेडिकल्स ही कैंसर का कारण बनते हैं.

इसी एंटीऑक्सीडेंट के कारण, अमरूद का रस कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने नहीं देता.

ii) यह आपकी त्वचा को अल्ट्रा-वॉयलेट किरणों और पर्यावरण प्रदूषण से बचाता है.

iii) लाइकोपीन समय से पहले दिखने वाली झुर्रियों जैसे उम्र बढ़ने के संकेतों से भी आपको बचाए रखता है.

जुकाम (फ्लू वायरस)और स्कर्वी से बचाव

मौसम के बदलने से, खास तौर पर बरसात के मौसम में हवा से फैलने वाला जुकाम

कमजोर रोग प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों को बड़ी संख्या में बीमार करता है.

स्कर्वी नाम की त्वचा की बीमारी भी विटामिन सी की कमी से होती है.

विटामिन सी सबसे आवश्यक पोषक तत्व है जो फ्लू वायरस से लड़ सकता है,

स्कर्वी रोग से बचाता है और आपकी रोग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है.

प्रकृति ने हमें अमरूद के रूप मे एक अमृत दिया है जो विटामिन सी के सबसे बड़े स्रोतों में से एक है.

डेंगू बुखार में उपयोगी

डेंगू बुखार का इलाज करने के लिए अमरूद खाने से आपको काफी लाभ मिलेगा.

दांत के दर्द में आरामदायक

अमरूद के फल और पत्तियों का रस एस्ट्रिंजेंट (astringent) का काम करते हैं

जो आपके दांत के दर्द को खींच कर मुंह और जबड़े के घावों से तुरंत राहतदेते हैं.

त्वचा के लिए अमरूद के लाभ

आपकी त्वचा के अच्छे स्वास्थय के लिए अमरूद के लाभ यहाँ दिए गए हैं.

i) अमरुद में मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट्स और कैरोटीन आपकी त्वचा के खिलने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं.

इस प्रकार, अमरूद के गूदे को अक्सर चेहरे और शरीर पर लगाने के लिए कॉस्मेटिक लोशन के निर्माण में उपयोग किया जाता है.

ii) गुलाबी अमरूद का गूदा पेस्ट के तरह लगाने से आपकी त्वचा पे चमक और ताजगी आती है.

इसका गूदा आपकी त्वचा पर कसावट लाता है जिससे आपकी त्वचा जवान दिखने लगती है.

iii) अपनी त्वचा पे निखार लाने के लिए, आप अपने घर पर ही अमरूद का स्क्रब तैयार कर सकते हैं.

इस के लिए, अंडे की जर्दी के साथ थोड़े से अमरूद के गूदे को मिला दें और लगाएं.

उसके 20 मिनट बाद उसे गरम पानी से धो लें.

हफ्ते में एक या दो बार लगाने पर, आपकी त्वचा से मृत कोशिकाएं या अशुद्धियों निकल जाएंगी

और आपकी त्वचा का रंग निखर जाएगा.

बेहतरीन एस्ट्रिंजेंट

iv) इसके एस्ट्रिंजेंट (astringent) गुणआपकी त्वचा को दोष, मुँहासेझुर्री और मुक्त रखते हैं.

v) यदि आप मुँहासे और काले धब्बे से पीड़ित हैं,

तो आप कुछ अमरूद के पत्तों को पीस कर पेस्ट की तरह अपने मुँहासे या काले धब्बे वाली जगह पर लगाएं.

ऐसा रोज करने से आपके मुँहासे और काले धब्बे ठीक हो जाएंगे.

vi) आपकी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए शरीर में पानी की सबसे बड़ी जरूरत होती है.

अमरुद आपकी पानी की जरूरत पूरी करता है क्योंकि इसके 81% भाग में पानी होता है.

इसलिए ये आपकी त्वचा पे नमी लाने के लिए भी अच्छा होता है.

इसके अलावा, अमरुद में लगभग 1.4 माइक्रोग्राम विटामिन के होता है जो हमारी रोज की पूरी खुराक का 2% है.

यह विटामिन हमारे रक्त को गाढ़ा करता है, इसके ना होने पर त्वचा की लाली और जलन पैदा होती है.

vii) ब्लैकहेड हटाने के लिए, आप थोड़े से पानी में अमरूद की पत्तियों को मिला कर इसे अपनी नाक पर साफ़ करें.

कुछ दिनों तक साफ़ करने पे ये ठीक हो जायेगा.

बालों के लिए अमरूद

अमरूद पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है

जिसमें विटामिन ए, विटामिन सी, फोलिक एसिड, पोटेशियम, तांबे, मैंगनीज, फाइबर, फ्लैवोनोइड्स और दूसरे फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं,

जो बालों को अच्छा रखने के लिए बेहद जरूरी होते हैं. 

विटामिन सी भी बालों को अच्छा रखने और बाल टूटने से बचाने के लिए जरूरी होता है जो अमरुद में भरपूर पाया जाता है.

 कैसे चुनें अमरुद

अमरुद कई तरह के होते हैं जैसे कि चीनी अमरुद, स्ट्रॉबेरी, नींबू, ऐप्पल और पहाड़ों के अमरुद आपको आसानी से मिल सकते  हैं.

उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में, वे पूरे साल मिलते हैं.

गुलाबी या लाल अमरुद जैसे लाल थाई किस्म हरे ऐप्पल किस्म के मुकाबले ज्यादा पौष्टिक होते हैं.

पकने पर, अमरुद आम तौर पर हरे से पीले रंग का और मुलायम हो जाता हैजिसमें मीठा स्वाद होता है.

ध्यान रखें कि आप कटे फटे फल कभी ना लें.

अमरुद ऐसे खरीदें जो कड़े हों और जिनपे धब्बे ना हों.

अमरूद की आपकी पसंद भी आप जिस किस्म का अमरुद खरीद रहे हैं, उस पर निर्भर करती है.

यदि आप गुलाबी अमरुद खरीद रहे हों, तो ऐसे प्रकार का चुनें जो कड़े हों और हलके से भी धब्बे ना हों.

उनकी बाहरी त्वचा हलके से पीलेपन के साथ हरी होनी चाहिए.

सफेद थाई अमरुद खरीदने के दौरान, ध्यान दें कि उनकी त्वचा चमकदार हरे रंग की होनी चाहिए, जैसे ग्रैनी स्मिथ ऐप्पल.

बहुत ही ज्यादा नरम या मुलायम धब्बे वाले फल से बचा जाना चाहिए.

जब ये पेड़ से तोड़े जाते हैं तो ये परिपक्व तो होते हैं पर पके नहीं होते.

दूसरे शब्दों में, हालांकि फल अपने सही आकार तक पहुंच गया है, इसमें मौजूद स्टार्च अभी चीनी में नहीं बदली है.

ये स्टार्च कुछ दिनों के बाद चीनी में बदल जाएगा जिससे फल नरम हो जाएंगे और अमरूद की एक अद्भुत सुगंध हमें मिलेगी.

अमरुद कैसे स्टोर करें

अमरुद को कमरे के तापमान पर कुछ दिनों तक संग्रहीत किया जा सकता है.

परिपक्व लेकिन हरे अमरुद के फलों को जब  46 से 550F के बीच नियंत्रित तापमान और 85% से 95% की सापेक्ष आर्द्रता पर रखा जाता है

तो ये  2 से 5 सप्ताह तक खाने लायक रह सकते हैं.

जल्दी पकाने के लिए, इन्हें केले या सेब के साथ एक पेपर में लपेटा जा सकता है.

पूरी तरह से पके हुए अमरूदों को काट कर फ्रिज में रखकर इन्हें एक साल तक भी सुरक्षित रखा जा सकता है,

परन्तु इन्हें कुछ दिनों में इस्तेमाल करने से इनकी सबसे अच्छी पौष्टिकता मिलेगी.

इसे हल्के सरल सिरप से ढकें और इसको फैलने के लिए कंटेनर में थोड़ी ज्यादा जगह दें.

परिपक्व होने पर गुलाबी और सफेद अमरुद हल्का सा भी दबाव डालने पर फट जाते हैं.

पके हुए अमरूदों को प्लास्टिक बैग या कंटेनर में ठंडा करके सुरक्षित रख सकते हैं.

अधपके अमरूदों को प्लास्टिक बैग या कंटेनर में 2 हफ़्तों तक अच्छा रख सकते हैं.

उपयोग विधियाँ

अमरूद बीज और छिलके सहित खाया जाने वाला एक पौष्टिक फल है.

इसकी कई किस्में मिलती हैं और प्रत्येक किस्म के साथ आपको एक बहुत ही बढ़िया स्वाद और खुशबू मिलेगी.

अमरूद से धूल और कीटनाशक रसायन को हटाने के लिए  ठंडे पानी की धार में धोना जरूरी है.

इस फल के ऊपर का हिस्सा जहाँ फूल होता है और सबसे नीचे का भाग चाकू से काट दीजिये.

आप इसे एक सेब की तरह पतले हिस्से या क्यूब की तरह काट सकते हैं.

इस फल को आप छिलके सहित खाइये क्योंकि इसके छिलकों में भी विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है.

यहां तक ​​कि बीज भी खाया जा सकता है, जो बहुत स्वादिष्ट और कुरकुरे होते हैं.

अधिकतर लोग अमरुद को कच्चा खाना पसंद करते हैं,

पर इसकी मजबूत सुगंध के कारण कई लोगों को इसे पका कर खाना ज्यादा अच्छा लगता है.

यहाँ पर हमने आपके लिए कुछ सुझाव और व्यंजन दिए हैं जिससे आप इस अनोखे फल का भरपूर आनंद ले सकें.

अमरूद का रस और जूस काफी ताजगी देते हैं

और अक्सर ही इन्हें कोल्ड ड्रिंक या शराब के पेय पदार्थों में एक घटक के रूप में उपयोग किया जाता है.

जेली

इसके अनूठे स्वाद के कारण, अक्सर इनको जेली बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

इनमें पेक्टिन की एक बड़ी मात्रा पायी जाती है, जो एक ऐसा रासायनिक पदार्थ है

जो जेली को सेट करने में मदद करता है.

अधपके पके हुए अमरूदों के रस को जेली बनाने के लिए गुड़हल फूल या कम पेक्टिन वाले फलों के साथ मिलाया जा सकता है.

इसके फल को कभी-कभी मक्खन, जाम, मुरब्बे और संरक्षित खाद्य पदार्थों में भी प्रयोग किया जाता है.

मलाई अमरुद

ताजा अमरूदों को आसानी से काटा जा सकता है

और उसमें थोड़ी सी चीनी और क्रीम मिलाने से ये आपको खाने में बहुत स्वादिष्टलगेगा.

अमरुद को छोटे टुकड़ों में काटकर अन्य गर्म प्रदेशों से आने वाले फलों में मिलाया जा सकता है.

इनको पनीर या सेब के व्यंजनों के साथ या फिर मांस और पोल्ट्री के लिए सॉस के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

अमरूद को खाने का एक और तरीका ये भी है कि इसे आधे में काट लें और इस पर थोड़ा नींबू के रस के साथ छिड़कें,

फिर इसके छिलके को हटाकर, एक चम्मच में इसके बीज के साथ अंदर का फल खाने में अनोखा स्वाद आएगा आपको.

रस और जूस

गुलाबी या लाल भूरे रंग के अमरूद का ताजा निकाला हुआ रस न केवल मीठा और स्वादिष्ट होता है

बल्कि इसमें विटामिन भी भरपूर होता है.

वास्तव में, ये सबसे अच्छे ताज़ा कर देने वाले पेय से एक अच्छी प्रतिस्पर्धा कर सकता है.

आप इसको आसानी से घर पर बना सकते हैं.

एक अमरूद धोइये और छीलिये  कुछ चीनी, ½ इंच अदरक (वैकल्पिक) और ठंडा पानी मिलाएं;

और इसे ब्लेंडर या जूसर में अच्छे से मिक्स करें.

सख्त बीजों को फ़िल्टर करके बाहर हटा दें और परोसते समय कुछ बर्फ के क्यूब्स जोड़ें.

अमरुद का ये ड्रिंक आपको काफी स्वादिष्ट और ताज़ा कर देने वाला लगेगा, खास तौर पर गर्म मौसम में.

आप अमरूद के गूदे को और नींबू के शरबत के साथ मिलकर एक ठंडा और ताज़ा पेय तैयार कर सकते हैं.

इस ड्रिंक को बनाने के लिए, लगभग 8 बड़े अमरूद छील लें और उन्हें बड़े टुकड़ों में काट कर बहुत कम पानी के साथ ब्लेंडर में मिलाएं.

बीज हटाने और गूदे को छानने के बाद, 4 चम्मच नींबू का रस, चीनी सिरप और खाने वाले हल्के गुलाबी रंग की कुछ बूंदें जोड़ दें.

इसे अच्छी तरह मिलाएं और एक बोतल में रखें.

इसका 1 चम्मच लेके  3 बर्फ के क्यूब के साथ  ½ नींबू पानी की बोतल में मिला कर परोसें

इसे 1 चम्मच में लेके इसके साथ और 3 बर्फ के क्यूब को  ½ नींबू पानी की बोतल में मिला कर परोसें.

सलाद

आप नीर के साथ भुना हुआ अमरूद मिलाकर एक स्वादिष्ट सलाद तैयार कर सकते हैं.

इसे बनाने के लिए, अमरूद को पतले गोल स्लाइस में काटिये और उन्हें कुछ कटे हुए अजमोद, बाल्सामिक सिरका, जैतून का तेल, काली मिर्च पाउडर और नमक के साथ घोलें.

इन अमरूदों की स्लाइस को तब तक भुनते रहिये जब तक कि वे सुनहरा भूरे न हो जाएं और शहद के साथ पाइन नट्स को इनको कैरेमल में दाल दीजिये.

कटा हुआ अजमोद और पनीर के साथ मिला कर इस सलाद को सजा दीजिये. ये ठंडा परोसा जा सकता है.

करी

एक मजेदार करी तैयार करने के लिए सेब के साथ अमरूद मिलाया जा सकता है.

इसे बनाने के लिए, दो सेब और दो अमरुद लीजिये; और उन्हें बड़े टुकड़ों में काट लीजिए.

एक बर्तन में दो चम्मच घी पिघलाएं और 3 लौंग और 3 दालचीनी के टुकड़े डाल दें.

10 से 12 किशमिश और 4 से 5 काजू दो मिनट के लिए भूनिये और फिर इनको अमरुद और सेब के टुकड़ों में मिला दीजिये.

इन्हें कुछ समय के लिए पकाएं

फिर इसमें 2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर, 1 ½ चम्मच हल्दी पाउडर, 1 बड़ा चमचा धनिया बीज पाउडर और जीरा बीज पाउडर कुछ नमक और चीनी के साथ मिला दें.

करी को निकालें और अच्छी तरह चमचे से चला कर परोस दें.

खीर

फ्लोरिडा गुलाबी किस्म का अमरूद स्वाद में मीठा होता है

और इसकी अच्छी खुशबू इसे मिठाई के प्रकार के व्यंजनों के लिए उपयुक्त बनाती है.

अमरूद की खीर एक ऐसी मिठाई है जो बहुत आसानी से तैयार की जा सकती है.

आपको केवल इतना करना है कि अमरूद को प्रेशर कुकर में पकाएं और इसके बीजों को हटा दें.

छलनी से छान कर इसके गूदे में चीनी और दूध मिलाकर, इसे उबाल लीजिए.

जब चीनी इसमें पूरी तरह मिल जाये, तो भुने हुए सूखे अमरुद के साथ इलायची पाउडर मिलाएं और इस पर सूखे मेवे सजा दें.

अमरुद के पोषण तथ्य

Energy 68 Kcal 3.5%
Carbohydrates 14.3 g 11.5%
Protein 2.55 g 5%
Total Fat 0.95 g 3%
Cholesterol 0 mg 0%
Dietary Fiber 5.4 g 14%
Vitamins
Folates 49 µg 12.5%
Niacin 1.084 mg 7%
Pantothenic acid 0.451 mg 9%
Pyridoxine 0.110 mg 8.5%
Riboflavin 0.040 mg 3%
Thiamin 0.067 mg 5.5%
Vitamin A 624 IU 21%
 C Vitamin 228 mg 396%
Vitamin E 0.73 mg 5%
Vitamin K 2.6 µg 2%
Electrolytes
Sodium 2 mg 0%
Potassium 417 mg 9%
Minerals
Calcium 18 mg 2%
Copper 0.230 mg 2.5%
Iron 0.26 mg 3%
Magnesium 22 mg 5.5%
Manganese 0.150 mg 6.5%
Phosphorus 11 mg 2%
Selenium 0.6 mcg 1%
Zinc 0.23 mg 2%
Phyto-nutrients
Carotene-ß 374 µg
Crypto-xanthin-ß 0 µg
Lycopene 5204 µg
Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2018
शेयर कीजिये

सुझाव दीजिये - कमेंट कीजिये

Posted in Foods & Herbs आहार,जड़ी-बूटियां, Health Facts स्वास्थ्य सार, Health स्वास्थ्य, Home Remedies घरेलू नुस्खे, Nutrition पोषण.

आपके सुझाव और कमेंट दीजिये