पोटैशियम - जीवन के लिये बेहद ज़रूरी तत्व

पोटैशियम – जीवन के लिये बेहद ज़रूरी तत्व

कभी न कभी आपने अंगों का अचानक, अकारण फड़कना अवश्य अनुभव किया होगा.

लेटे हुए या कभी कभार आराम की अवस्था में, जब उंगलिया, बाहों, जांघों, छाती या शरीर के किसी अन्य भाग में बिना किसी कारण, अचानक एक क्षणिक हलचल अकारण ही हो जाती है.

इनका मुख्य कारण पोटैशियम की कमी ही है, बहुत ही कम प्रकरणों में इनके कुछ अन्य कारक जैसे nerve derangement इत्यादि भी हो सकते  हैं.

पोटैशियम (Potassium) का हमारी हर धड़कन में योगदान रहता है.

दिन के लगभग एक लाख बार, पोटैशियम के कारण ही हमारे ह्रदय में संकुचन की क्रिया हो पाती है

जो रक्त को पूरे शरीर में संचारित करती है.

पोटैशियम उन सात मुख्य आवश्यक खनिजों (calcium, magnesium, phosphorus, sulfur,  chloride, iron) में से एक है

जिनके बिना हमारे शरीर की मूलभूत रचना व कार्यशैली ठीक नहीं रह सकती.

 

पोटैशियम के मुख्य कार्य

♦ पोटैशियम पूरे शरीर में विद्युत (Electricity)  का संचारक होता है.

♦ पोटैशियम ही आपके पूरे शरीर के मसल्स (Muscles) को गति प्रदान करता है.

♦ नर्वस (Nervous) प्रणाली के संचार का माध्यम है.

♦ शरीर की तरलता का संतुलन पोटैशियम ही रखता है.

♦ किडनी की रक्त शोधन क्षमता का कारक है.

♦सोडियम की प्रतिकूलता को neutralize करता है, जिस कारण हमारा रक्तचाप (Blood pressure) सामान्य बना रहता है.

♦यह शरीर के acid  व base का संतुलन रखता है

♦पोटैशियम हमें कई रोगों से बचाता है जिनमें stroke, high BP, kidney stones, bone mineral density इत्यादि मुख्य हैं.

कितना पोटैशियम चाहिए

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हमें नित्य 3510mg पोटैशियम की आवश्यकता होती है,

जबकि अमेरिका का USFDA इसे 4700mg बताता है.

दोनों मानते हैं कि दुनिया भर की एक बहुत बड़ी आबादी potassium कमी से ग्रसित है, व इनके सुझाई मात्रा से बहुत नीचे.  (1, 2)

कौन से आहार हैं उच्च पोटैशियम के स्रोत

जब पोटैशियम का इतना महत्व है तो यह जानना ज़रूरी हो जाता है कि किन चीज़ों में यह उच्च मात्र में मिलता है.

हरी शाक सब्जियों में कुलफा (Portulaca oleracia) का साग पोटैशियम का सबसे उत्तम स्रोत है.

पोटैशियम - जीवन के लिये बेहद ज़रूरी तत्व

कुलफा के 100 ग्राम हरे साग में लगभग 494mg पोटैशियम पाया जाता है.

उच्च पोटैशियम और mallic acid के कारण ही कुलफा का साग खट्टा होता है.

उच्च पोटैशियम के अन्य आहार स्रोत इस प्रकार से हैं: (3)

आलू Potato, large, baked, with skin: 845 milligrams

शक्करकन्द Sweet potato, baked (146 grams): 694 milligrams

खरबूजा Cantaloupe, raw, 1 cup: 417 milligrams

कुकरमुत्ते Mushrooms, 10 small: 415 milligrams

लोबिया White beans, canned, ½ cup: 595 milligrams

टमाटर Tomatoes, 1 cup: 528 milligrams

केला Banana, 1 medium: 422 milligrams

पालक Spinach, cooked, ½ cup: 419 milligrams

दही Yogurt, low fat, plain: 398 milligrams

नाशपाती Pear, 1 medium: 333 milligrams

आम Mango, 1 medium: 323 milligrams

संतरा Orange, 1 medium: 300 milligrams

पिस्ता Pistachios, dried, 1 oz: 310 milligrams

किशमिश Raisins, ¼ cup: 271 milligrams.

पोटैशियम की अधिकता

यदि आपकी किडनी ठीक है तो पोटैशियम की अधिकता आपको नहीं हो सकती.

यदि शरीर में पोटैशियम की अधिकता हो जाती है तो हमारी किडनियां इसे मूत्र द्वारा बाहर निकाल देती हैं.

पोटैशियम की अधिकता केवल उन्हें ही परेशान  कर सकती है जिनकी किडनी किसी रोग के कारण अक्षम हों.

दुनिया भर में, ऐसे अब तक केवल दो ही मामले दर्ज हैं जो शरीर में अधिक पोटैशियम के कारण दिल के दौरे का शिकार हुए.

दूसरी बात,  पोटैशियम की अधिकता केवल उन्हें हो सकती है जो इसके कोई supplements ले रहे हों.

आहारों से प्राप्त होने वाला पोटैशियम कभी भी अधिकता का कारण नहीं बनता.

सारशब्द

पोटैशियम हमारे जीवन के लिये अहम् होता है.

पोटैशियम युक्त आहारों का समावेश हमें अवश्य करना चाहिए

जिससे हम हाई BP, किडनी स्टोन, स्ट्रोक इत्यादि जानलेवा बीमारियों से बचे रह सकते हैं.


निशुल्क लेखों के लिये अपना ईमेल पता भरिये. हर लेख सीधे अपनी ईमेल में पाइये और फुर्सत में पढ़िये


निजी स्वास्थ्य सलाह लेने के लिए इस लिंक पर विवरण दीजिये


हमारे फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिये यहाँ क्लिक कीजिये


Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2018

शेयर कीजिये
Posted in Health Facts स्वास्थ्य सार, Nutrition पोषण.