जीवन है संग्राम

जीवन है संग्राम – जगत में कहीं नहीं विश्राम

Post updated on October 19th, 2018

जीवन है संग्राम – संसार में यदि कहीं कोई जगह या स्थिति है जहाँ पूर्ण आनंद और शांति मिले…

तो वह है,

परमेश्वर का सानिध्य

ध्यान, सिमरन, जाप, कीर्तन-भजन; सानिध्य के साधन हैं.

यह गायन इसी आशय की जीवंत प्रस्तुति है.

जीवन है संग्राम

सुनिए और आनंद लीजिये अलोक सहदेव जी के इस मधुर गायन का.

आप इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं.


 

धीमे इन्टरनेट कनेक्शन में ऑडियो की पूरी बफरिंग धीमी हो सकती है.

सुनने के लिए थोड़ा इंतज़ार कीजिये

 


अनुमति साभार: आदरणीय आलोक सहदेव

यह भी देखिये

मौन भाव अदभुत गायन, एकांत में सुनिये

तुम ही मैं हूँ, फिर चिन्तन क्या

Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2017
शेयर कीजिये