fbpx

कोलरेक्टो > Colrecto – गुदाभाग रोगों का कारगर इलाज

540

गुदाभाग (Rectum) के कई रोग होते हैं जिनमें पाइल्स, फिस्टुला, हेमोरोइड्स और SRUS मुख्य माने जाते हैं.

यह सब तब होता है जब मलत्याग सहज रूप से नहीं होता और मलत्याग के बाद गुदाभाग पूरा खाली नहीं होता है.

जब गुदाभाग के विकार लम्बे समय तक बने रहते हैं तो इन्फेक्शन बड़ी आंत के अंतिम छोर में भी पहुँच जाती है और proctitis जैसे विकार भी पनप जाते हैं.

Colrecto (कोलरेक्टो) एक ऐसी औषधि है जो इन सभी रोगों में कारगर रहती है.

खरीदने के लिए नीचे दिए Add to Basket बटन पर क्लिक कीजिये

Category:

कोलरेक्टो > Colrecto एक ऐसा उत्पाद है जो गुदाभाग रोगों में प्रभावशाली है.

बड़ी आंत के कुछ ऐसे रोग होते हैं जिनमें या तो नासूर पनप जाते हैं या फिर घाव बने रहने लगते हैं.

बवासीर अथवा piles, भगंदर (Fistula, Hemorrhoids), SRUS, गुदाभाग की सूजन (Proctitis), अल्सरेटिव कोलाइटिस जैसे ऐसे ही कुछ रोग हैं.

यदि समय रहते इनका उपचार न किया जाये, तो ये गंभीर रूप भी ले लेते हैं.

कोलरेक्टो > Colrecto – गुदाभाग रोगों का कारगर इलाज

गुदाभाग (बड़ी आंत के आखिरी छोर से लेकर गुदाद्वार तक का भाग) में अक्सर बताये गए रोग पनप जाते हैं.

कोलरेक्टो > Colrecto इन सभी समस्याओं के कारगर निवारण में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि है.

Composition

Quercus Infectoria, Sfatik Bhasma, Berberis aristata 60mg each

Terminalia chebula, Terminallia belerica, Emlica officinalis, 70mg each

Azadirachta indica bark, Ficus religiosa bark 50mg ea

Processed in:

Symplocos racemosa, aloe barbedensis, Callicarpa macrophylla, and Millettia pinnata

Dosage

1-2 capsules two to three times daily, after meals preferably with buttermilk.

Use of radishes (raw or cooked) during the dosage period, helps in better results.

Packing

60 capsules in virgin grade HDPE jars.

Reviews

  1. Anmol Malik

    Not only this product is good for piles, it gives a feeling of complete evacuation. I recommend this, for anyone who has constipation alongside piles.

  2. कुलभूषण त्रिवेदी

    कोलरेक्टो लेने से मेरी बवासीर की समस्या का समाधान हो गया है. मैंने आपके बताये अनुसार रोज़ मूली की भाजी और मठा का उपयोग भी किया है. मुझे दो दिन में ही राहत महसूस हुई, हालाँकि मैंने इसे 10 दिन तक लिया. आपके बताये अनुसार बाकी की गोलियां मैंने भविष्य के लिए बचा कर रख ली हैं. धन्यवाद, आभार है आपका, आयुर्वेद सेंट्रल.

Add a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! Please contact us, if you need the free content for your website.