धनिया की पत्तियां (Cilantro) – होती हैं बेहतरीन सुपरफूड

सुपरफूड प्रकृति से मिलने वाला एक ऐसा एंटी ऑक्सीडेंट युक्त, कम से कम संसाधित जैविक खाद्य भोजन होता है, जिसमें खूब सारे पोषक तत्व होते हैं. और धनिया की पत्तियां ऐसा ही सुपरफूड होती हैं.

धनिया की पत्तियां और बीज एक ही पौधे के दो अलग-अलग हिस्से हैं, जिसका वैज्ञानिक नाम कोरिएंड्रम सैटिवम (Coriandrum sativum) होता है.

अग्रेज़ी में धनिया की पत्तियों को सिलान्त्रो (Cilantro) के नाम से जाना जाता है जबकि बीजो को Coriandar कहा जाता है.

ये साल में एक बार उगने वाली जड़ी बूटी है, और इसको हर साल फिर से लगाया जाता है.

इसकी पत्तियां कुछ कुछ नींबू के छिलके के स्वाद वाली होती हैं.

धनिया की पत्तियां (Cilantro) – पौष्टिकता से भरपूर

यह विटामिन और खनिजों का एक बड़ा स्रोत  है जिसे,

एक सुपरफूड  माना जाना चाहिए क्योंकियह एक सुपर जड़ी बूटी भी है.

इसकी एक छोटी सी मात्रा भी विटामिन ए और के (vitamins  A and K) की आपकी रोज की जरूरत पूरा करेगी

और इसमें भरपूर विटामिन सी, पोटेशियम और मैंगनीज भी होता है.

सिलैंट्रो (Cilantro) उन लोगों के लिए एक गजब का, कम कैलोरी वाला विकल्प है

जो अपने आहार में अधिक पोषक तत्व और स्वाद जोड़ना चाहते हैं.

धनिया की पत्तियां

इसकी प्रति 100 ग्राम के अनुशंसित आहार मात्रा (RDA) का प्रतिशत इस प्रकार का होता है (1):

Energy                                    95 kJ (23 kcal)

Carbohydrates                      3.67 g

Sugars                                    0.87

Dietary fiber                          2.8 g

Fat                                           0.52 g

Protein                                   2.13 g

Vitamins:

Vitamin A equiv.                    (42% of RDA) 337 μg

Beta-carotene                        (36% of RDA) 3930 μg

Lutein zeaxanthin                 865 μg

Thiamine (B1)                       (6% of RDA) 0.067 mg

Riboflavin (B2)                      (14% of RDA) 0.162 mg

Niacin (B3)                             (7% of RDA) 1.114 mg

Pantothenic acid (B5)           (11% of RDA) 0.57 mg

Vitamin B6                             (11% of RDA) 0.149 mg

Folate (B9)                             (16% of RDA) 62 μg

Vitamin C                               (33% of RDA) 27 mg

E Vitamin                              (17% of RDA) 2.5 mg

Vitamin K                               (295% of RDA) 310 μg

Minerals:

Calcium                                   (7% of RDA) 67 mg

Iron                                         (14% of RDA) 1.77 mg

Magnesium                            (7% of RDA) 26 mg

Manganese                             (20% of RDA) 0.426 mg

Phosphorus                           (7% of RDA) 48 mg

Potassium                              (11% of RDA) 521 mg

Sodium                                   (3% of RDA) 46 mg

Zinc                                         (5% of RDA) 0.5 mg

कैसे हटाती हैं धनिया की पत्तियां विषैली धातुओं को

अपने पौष्टिक गुणों के अलावा, धनिया की पत्तियां एक शक्तिशाली सफाई एजेंट हैं,

जो विशेष रूप से जहरीली धातुओं को आपके शरीर से हटाती हैं.

हमारे शरीर में लगातार आर्सेनिक, और कैडमियम जैसे विषाक्त धातु, आहारों के जरिये आते रहते हैं.

ये जहरीली धातुएं हमारे अंतःस्रावी तंत्र, मांसपेशी ऊतक, और यहां तक ​​कि हड्डियों के भीतर भी जमा होती रहती हैं.

अगर ये धातुयें हमारे शरीर में खतरनाक स्तर तक पहुंच जाएँ, तो कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं.

आमतौर पर विषाक्त धातुुओं के खराब प्रभावों के कारण हार्मोन असंतुलन,

मुक्तकणों से ऑक्सीडेटिव तनाव (oxidative stress) और

सबसे खतरनाक मामलों में शरीर के जरूरी अंगों का काम करना बंद होना है.

अपने शरीर से इन विषैली धातुओं को हटाने के लिए इनके कारण होने वाले खराब प्रभावों के अनुभव का इंतजार न करें.

उदाहरण के लिए, पारा आपके स्वास्थ्य प रविनाशकारी प्रभाव डाल सकता है.

पारा बेहद जहरीला होता है खास तौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए.

इसे दांतों की फिलिंग, समुद्री भोजन, आदि में पाया जाता हैऔर ये साँसों के द्वारा याआहारों से शरीर में चला जाता है.

शरीर में पारे के ज्यादा होने से पीड़ित बहुत से लोग एक लम्बी अवधि में धनिया की पत्तियों का बड़ी मात्रा में सेवन करने के बाद अधिक अच्छा महसूस करते हैं.[2]

शरीर में सीसा (lead) के दुष्प्रभाव

[यह इतना खतरनाक है कि इससे मृत्यु तक हो सकती है.

यह खाने में मिलावट, फैक्टरियों की धूल, सीसा मिश्रित पेंट, मांसाहार (कई बार जानवर भी सीसा खाते हैं) इत्यादि से मानव शरीर में पहुँचता है.

इसके कारण सिज़ोफ्रेनिआ (Schizophrenia), नपुंसकता (Erectile Dysfunction), गर्भपात जैसे गंभीर परिणाम पाए गए हैं.

इसके असर को भी जितनाआमतौर पर समझा गया है, शरीर पर उससे कहीं ज्यादा प्रतिकूल प्रभाव पड़ते हैं.

जीव विज्ञान में, धनिया की पत्तियों को सीसे के कारण होने वालेऑक्सीडेटिव (oxidative) तनाव से बचाव के लिए लाभकारी पाया गयाहै.[3]

धनिया की पत्तियाँ प्राकृतिक तरीके से विषैले धातुओं को आपके शरीर से साफ करने  में मदद करती हैं

इन धातुओं के दुष्प्रभाव से, कैंसर और दूसरी बड़ी बिमारियों के शिकार बड़ी संख्या में लोग हुए हैं.

इसमें मौजूद यौगिक, विषाक्त धातुओं के साथ चिपक जाते हैंऔर उन्हें प्रभावित ऊतक से निकालते हैं.

आप धनिया की कच्ची पत्तियों का सेवन कर के इन लाभों तक पहुंच सकते हैं.

हालाँकि, इसकी ताजी पत्तियाँ खराब जल्दी हो जाती हैं.

क्या हैं हरे धनिये के फायदे?

धनिया की पत्तियां एक ऐसा सुपरफूड हैं जो आपको कई स्वास्थ्य लाभ देती हैं.

हरे धनिया का जूस या ऐसे ही उपयोग आपको कई स्वाथ्य लाभ दे सकता है.

धनिया पत्ती के फायदे  – एक अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट

किडनी के लिए हरा धनिया एक बेहद बढ़िया घरेलू उपाय माना जाता है.

यह एक मजबूत एंटी ऑक्सीडेंट होती हैं. जो हमारी किडनी को स्वस्थ करने की क्षमता रखती है

धनिया का पानी फॉर किडनी एक ऐसा विकल्प है जिसका कोई तोड़ नहीं है.

धनिया पत्ती लाभ गुर्दा के लिये यह एक बेहतरीन विकल्प है[4]

दिल के स्वास्थ्य के लिए बढ़िया

ये कार्डियो वैस्कुलर क्षति को रोकने में मदद करती हैं.[5]

मूड बूस्टर

इन पत्तियों के सेवन से मन शांत होता है.[6]

शुगर को नियमित करती हैं

कुछअध्ययनों के अनुसार ये शुगर के स्तर को सामान्य बनाये रखने में मदद करती हैं.[7]

अच्छी नींद के लिए सहायक

येअच्छी नींद लाने में मदद करती हैं.[8]

स्वस्थ कोशिकाओं के विकास में सहायक

ऑक्सीकरण के कारण, हमारे शरीर में मुक्तकणों का निर्माण होता है जोकि हमारे शरीर के लिए अच्छे नहीं होते.

एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर के लिए नुकसान दायक उस ऑक्सीकरण को नहीं होने देता.

धनिया के बीज के तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव को कम कर सकते हैं.[9]

फंगल संतुलन

ब्राजील में दांतों के स्कूल पिरैकिकाबा के एक शोध में पाया गया है कि इन पत्तियों का तेल कैंडीडा कवक के मुख को बनने से रोकता है.

धनिया का जूस को वे बेहद पौष्टिक मानते हैं [10]

शरीर के लिए नुकसानदायक जीवों से लड़ता है

धनिया की पत्तियाँ कई प्रकार के हानिकारक जीवों(यह अनुमान लगाया गया है कि बड़ी संख्या में लोग इन जीवों से संक्रमित हैं और उन्हें पता भी नहीं होता) को शरीर में बढ़ने नहीं देती हैं. [1112]

मस्तिष्क का स्वास्थ्य इनके सेवन से अच्छा रहता है

ऑक्सीडेटिव तनाव को रोक कर ये आपका न्यूरोलॉजिकल स्वास्थ्य अच्छा बना सकती हैं.[13]

द्रवसंतुलन अच्छा करती हैं

धनिया के बीज सामान्य तरल संतुलनऔर मूत्र प्रवाह को बढ़ावा देते हैं.[14]

 हड्डियों को मजबूत करती हैं

धनिया में मौजूद भरपूर मात्रा में विटामिन के आपकी हड्डियाँ मजबूत रखने में बहुत सहायक होगा.

आँखों के अच्छे स्वास्थय के लिए सही पोषण

इनमें पोषक तत्व होते हैं, जिनमें विटामिन ए भी शामिल है, जो हमारीआंखों कोअच्छा बनाते हैं.

प्राकृतिक खाद्य संरक्षक

धनिया की पत्तियां और बीज का उपयोग आवश्यक तेलों को बनाने में किया जाता है

जो प्राकृतिक खाद्यसंरक्षक के रूप में काम करते हैं

और आहारों को ल म्बे समय तक सुरक्षित रखतेहैं.[15]

धनिया के दुष्प्रभाव

धनिया का रस साइड इफेक्ट कोई भी नहीं होते होते हैं.

बेधड़क उपयोग कीजिये और विपुल स्वास्थ्य लाभ पाईये.

धनिया के उपयोग का इतिहास

लिखित इतिहास में, धनिया की पत्तियों का बहुत से तरीकों से इस्तेमाल होता आया है.

प्राचीन यूनानी इसे इत्र बनाने के एक घटक के रूप में आवश्यक तेल की तरह उपयोग किया करते थे.

मध्ययुगीन काल के दौरान, रोमन इसे सड़े हुए मांस की दुर्गन्ध को छुपाने के लिए प्रयोग करते थे.

यह 1670 में ब्रिटिश उपनिवेशों से उत्तरी अमरीका पहली बार लायी जाने जड़ी बूटियों में से एक थी.

आजकल का उपयोग

आज, कई प्रकार के व्यंजनों में धनिया की पत्तियों और बीजों का उपयोग किया जाता है.

इसकी लोकप्रियता इसके शानदार स्वाद और हमारे शरीर के लिए ढेर सारे फायदों के कारण है.

जो लोग धनिये की इन पत्तियों से प्यार करते हैं, उनके लिए अच्छे स्वास्थय की संभावनाएं अनंत हैं.

साल्सा और सूप से मांस या शाकाहारी करी तक, ये गार्निश के लिए बढ़ियाऔरस्वाद बढ़ाने वाली घटक है.

धनिया की पत्ती के स्वस्थ, शुद्ध शाकाहारी व्यंजनों के लिए, हमारे मसालेदार गाजर के साथ कार्बनिक ग्वाकामोल (organic guacamole) या भारतीय खाने से प्रेरित हरा दालचीनी सलाद जरूर आजमायें.

आप धनिया की पत्तियों का उपयोग कैसे करते हैं?

क्या धनिया की आपकी कोई पसंदीदा रेसिपी (recipes) है?

तो हमें ज़रूर बताईये,

हम ज़रूर सबको बताएँगे.

Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2018
शेयर कीजिये

5 Comments

आपके सुझाव और कमेंट दीजिये