IBS संग्रहणी - पेट का हठी रोग sangrahni ke lakshan gharelu upay ilaj

IBS संग्रहणी – पेट का हठी रोग – लक्षण, कारण और इलाज

पेट का सही न होना कई रोगों को जन्म देता है. 10 में से 7 लोग पेट की बीमारी या समस्याओं से ग्रसित रहते हैं, जिनमे IBS संग्रहणी – पेट का हठी रोग एक मुख्य समस्या है.

सुबह एक बार शौच जाने के बाद ऐसा आभास होना कि एक बार फिर जाना चाहिए जिससे पेट हल्का हो जाए.

आप चाय या कुनकुना पानी पियेंगे ताकि एक बार फिर हाजत हो जाए.

जब ये ना हो, तो आप टहलना आरम्भ कर देंगे या फिर न्यूज़पेपर इत्यादि पढ़ कर इंतज़ार करेंगे कि एक बार फिर से प्रेशर बने तो राहत मिले.

ये इस रोग के कई लक्षणों में से एक है.

इस लेख में जानेंगे क्या है संग्रहणी या IBS, इसके लक्षण, कारण व उपचार अथवा इलाज के बारे में.

ये भी जानेंगे कि कैसे इस दुखदायी रोग से बचा जा सकता है, जिसकी चपेट में आबादी के एक बड़ा तबका शामिल रहता है.

क्या है IBS संग्रहणी – पेट का हठी रोग

यह प्रश्न अक्सर पूछे जाते है कि ibs क्या है, और क्यों ibs का इलाज आसानी से नहीं हो पाता है.

IBS संग्रहणी के मुख्य लक्षण इस प्रकार से रहते हैं:

भिन्डी की सब्जी पेट के लिये अच्छी मानी जाती है.

इसमें मिलने वाला फाइबर पेट के लिये रामबाण माना जाता है.

सबको भिन्डी सामान्यत: गुणकारी ही लगती है.

लेकिन एक दिन आपने जब भिन्डी खाई तो पेट में गैस बन गई.

अगली बार जब भिन्डी खाई तो पेट बिलकुल ठीक रहा.

कुछ दिनों बाद जब फिर भिन्डी खाई तो उस दिन दस्त लग गये.

फिर किसी अन्य दिन भिन्डी खाने से से कब्ज़ हो गयी.

और फिर अगली कुछ बार भिन्डी की ही वजह से आपने अपने पेट को बिलकुल सही पाया.

भिन्डी तो एक ही है लेकिन भिन्न भिन्न दिनों में हमारे पेट तंत्र में इसके भिन्न भिन्न असर या लक्षण देखने को मिले.

यही है IBS अथवा ग्रहणी अथवा संग्रहणी

आयुर्वेद इसे संग्रहणी रोग कहा गया है जिसका अर्थ है

पेट में ऐसे तत्वों का संग्रह जो इस रोग के कारक बन जाते हैं.

आधुनिक विज्ञान इसे  IBS (Irritable Bowl Syndrom) कहता है जिसका अर्थ है

हमारी पाचन क्रिया का अकारण ही उग्र हो जाना.

IBS संग्रहणी के लक्षण

भूख का पूरा अनुभव होना लेकिन थोडा सा भोजन खाते ही पेट के पूरे भरने का भान होना.

दो भोजनों के बीच पूरा अंतराल होते हुए भी भूख का कम लगना,

ibs kya hai, ibs bimari kya hoti hai, ibs का इलाज, संग्रहणी का रामबाण इलाज, संग्रहणी meaning in english, ibs समस्या समाधान, आई बी एस का उपचार, कफज संग्रहणी, ibs me parhej ibs bimari kya hoti hai ibs me kya khaye ibs ke lakshan irritable bowel syndrome kya hai in hindi patanjali yoga sangrahani ibs disease diet irritable bowel syndrome (ibs) treatment kya khana chahiye ibs me irritable bowel syndrome treatment in hindi ibs treatment in patanjali ibs ka ilaj in hindi ibs problem solution irritable bowel syndrome ke lakshan in hindi ibs problem foods ibs उपचार ibs समस्या समाधान ibs के लिए एलोपैथिक दवा ibs रोग चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम ibs उपचार ibs आहार ibs गोलियाँ रोक ibs के मरीजों के लिए सबसे अच्छा खाना irritable bowel syndrome ka ilaj sangrahani disease means sangrahani ki dawa sangrahani rog meaning sangrahani ke lakshan sangrahani ka ramban ilaj best ayurvedic medicine for ibs grahani chikitsa colitis ibs diarrhea diet ibs diet fodmap ibs constipation diet what not to eat with irritable bowel syndrome? ibs diet list ibs diet recipes ibs diet cheat sheet what can you eat if you have ibs? ibs treatment over the counter ibs treatment diet ibs treatment natural how to cure ibs in one day irritable bowel syndrome ayurvedic treatment ibs medication list gut antispasmodic ibs pain relief aav sangrahani rog sangrahani rog meaning sangrahani rog ki chikitsa sangrahani ki dawa sangrahani in english sangrahani in ayurvedic yoga for sangrahani ibs ka ilaj चिकना मल आना  मल में चिकनाई  पतला पैखाना रोकने के उपाय  मल में झाग आना  पतले दस्त का इलाज  मल ना आना  बार बार मल आना  अतिसार की दवा

पेट के ऊपरी हिस्से में जलन एसिडिटी (Acidity) का बने रहना.

खाना खाने के बाद पेट में तनाव महसूस करना.

कब्ज़ न होते हुए भी ऐसा आभास होना कि पेट ठीक तरह से साफ़ नहीं हुआ है.

दोबारा, तिबारा शौच की हाजत की अपेक्षा रखना कि पेट साफ़ हो जाए.

कभी कभी इतनी गैस का बनना कि सही से सोच पाना भी मुश्किल काम लगता है.

बिना कुछ भारी भोजन किये पेट में गैस का बन जाना.

कभी कब्ज़ हो जाना तो कभी दस्त की तरह शौच होना.

गैस बढ़ जाने पर बेचैनी होना या फिर कभी कभी उल्टी होने जैसा लगना.

कभी कभी  शौच की तेज़ हाजत होना कि जैसे रोक ही नहीं पाएंगे.

लेकिन जाने के बाद ऐसा भान होना कि पेट अच्छी तरह से साफ़ ही नहीं हुआ.

IBS संग्रहणी ibs समस्या समाधान ibs के लिए एलोपैथिक दवा आई बी एस का उपचार ibs लक्षण संग्रहणी चिकित्सा संग्रहणी का रामबाण इलाज संग्रहणी का घरेलु उपचार संग्रहणी का इलाज बताये ibs के लिए घरेलू उपचार ibs आहार चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम ibs उपचार ibs के मरीजों के लिए सबसे अच्छा खाना ibs गोलियाँ रोक ibs दवा i b s kya hai चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम उपचार ibs रोग संग्रहणी के लक्षण आई बी एस का आयुर्वेदिक उपचार संग्रहणी रोग का उपचार ibs उपचार कफज संग्रहणी पित्त संग्रहणी वातज संग्रहणी संग्रहणी का घरेलू उपचार संग्रहणी in english संग्रहणी रोग का इलाज आव का उपचार संग्रहणी मराठी संग्रहणी की आयुर्वेदिक दवा संग्रहणी की दवा संग्रहणी meaning in english पेट में इन्फेक्शन के उपाय पेट में इन्फेक्शन के घरेलू उपाय पेट में इन्फेक्शन की दवा स्टमक इंफेक्शन मेडिसिन पेट का संक्रमण आंतों की कमजोरी के लक्षण पेट में इन्फेक्शन के लक्षण इन हिंदी स्टमक इंफेक्शन होम रेमेडी पेट में मरोड़ होना पेट के संक्रमण घरेलू उपचार पेट में गर्मी छोटी आंत में सूजन आंतों की कमजोरी आंत की बीमारी कोलाइटिस क्या है कोलाइटिस की देशी दवा हिंदी में पेट संक्रमण के लक्षण पेट के संक्रमण के लक्षण स्टमक इंफेक्शन ट्रीटमेंट पेट के संक्रमण लक्षण आंतों के रोग आंतों की बीमारी के लक्षण आंतों की कमजोरी का इलाज आंतों की मजबूती आंतो की कमजोरी आंत की सफाई छोटी आंत के रोग आंतों में इन्फेक्शन के लक्षण संग्रहणी का रामबाण इलाज संग्रहणी का इलाज बताये संग्रहणी की दवा संग्रहणी का घरेलू उपचार संग्रहणी रोग में क्या खाएं संग्रहणी का इलाज इन हिंदी संग्रहणी के उपाय संग्रहणी का आयुर्वेदिक उपचार संग्रहणी का होम्योपैथिक इलाज संग्रहणी चिकित्सा संग्रहणी मीन्स संग्रहणी का आयुर्वेदिक इलाज संग्रहणी मराठी संग्रहणी उपचार संग्रहणी in english संग्रहणी इन हिंदी संग्रहणी कटक रस संग्रहणी meaning in english संग्रहणी के लिए योग संग्रहणी ट्रीटमेंट इन हिंदी संग्रहणी की आयुर्वेदिक दवा संग्रहणी का आयुर्वेदिक उपचार संग्रहणी का उपचार संग्रहणी का घरेलू उपचार संग्रहणी के घरेलू उपचार संग्रहणी meaning in english संग्रहणी ट्रीटमेंट इन हिंदी संग्रहणी रोग का उपचार संग्रहणी का घरेलू उपचार संग्रहणी उपचार संग्रहणी का घरेलू उपचार संग्रहणी रोग का इलाज संग्रहणी रोग का उपचार

शौच जाने का आभास केवल क्षणिक होना.

अर्थात यदि एक तीन मिनट में शौच गए तो ठीक, नहीं तो शौच की हाजत का बिना शौच किये समाप्त हो जाना.

कभी कभी या अक्सर, खाना खाने के तुरंत बाद शौच जाने की हाजत होना.

कुछ खाते ही ऐसा प्रेशर बनता है जो ज़रा भी रोके नहीं बनता.

कभी कभी बिना कोई भोजन में बदलाव किये या दवाई लिये, ऐसा भान होना कि पेट बिलकुल ठीक है.

जो एक दो दिन चलता है फिर दोबारा कोई न कोई पेट की समस्या का खड़ा हो जाना.

अन्य लक्षण

सही से मल विसर्जित न होने के कारण भारीपन, सुस्ती, चिडचिडापन व उर्जाहीनता का भान होना.

धीरे धीरे अन्य लक्षणों जैसे अनिद्रा, पेट की सूजन, शरीर में भारीपन, अकड़न इत्यादि से ग्रसित होना.

यह सभी लक्षण प्रासंगिक हैं, जिसका मतलब है कि सभी लक्षण होना ज़रूरी नहीं.

लक्षण रोग की अवधि और आयु के अनुसार बदलते रहते हैं और इनकी उग्रता भी बदलती बढती जाती है.

IBS संग्रहणी – क्यों होता है यह रोग

संग्रहणी रोग के आधुनिक वैज्ञानिक  लक्षण व कारण लगभग वही हैं जो आयुर्वेद में वर्णित हैं.

लेख लम्बा  न हो जाए, इसलिए इसे संक्षेप में जानने का प्रयास करेंगे.

पाचन तंत्र में असंतुलन

हमारा पाचन तंत्र  रासायनिक प्रतिक्रियाओं का जटिल तालमेल है, जिसमें मुंह की लार (Saliva) से लेकर, अमाशय (stomach), यकृत (Liver), अग्नयाशय (Pancreas) के रासायनों, enzymes व आतों में उपस्थित जीवाणुओं (Gut bacteria) का महत्वपूर्ण योगदान रहता है.

आंतों के जीवाणु अपने आप को वैसे ही ढालने का प्रयास करते हैं जिस प्रकार के रसायन, एंजाइम व आहार उन्हें उपलब्ध होते हैं.

जब इस तालमेल में असंतुलन एक लम्बे समय अथवा कुछ महीनों या वर्षों  तक चलता रहता है तो इन जीवाणुओं के व्यवहार में भी असंतुलन पैदा हो जाता है.

ibs sangrahni ka gharelu ayurvedic ilaj upchar, ibs ka matlab, ibs ke lakshan, parhej, problem solution irritable bowel syndrome (ibs) treatment ibs problem solution ibs disease diet in hindi ibs me parhej ibs me kya khaye ibs meaning in marathi ibs ke lakshan ibs treatment in patanjali in hindi ibs medicine in ayurveda divya kutajghan vati for ibs ibs treatment in patanjali haridwar diarex ibs unani medicine for ibs divya kutajghan vati price ibs cure by yoga ibs treatment over the counter ibs treatment diet ibs treatment natural how to cure ibs in one day irritable bowel syndrome ayurvedic treatment ibs medication list gut antispasmodic ibs pain relief how to relieve ibs pain fast how to cure ibs permanently ibs flare up relief how to heal irritable bowel syndrome naturally irritable bowel syndrome ka ilaj irritable bowel meaning in hindi ibs ke liye yoga ibs ke marij ibs diet chart in hindi ibs problem foods kya khana chahiye ibs me irritable bowel syndrome treatment in hindi ibs disease diet ibs bimari kya hoti hai irritable bowel syndrome kya hai in hindi is irritable bowel syndrome a disease ibs उपचार ibs समस्या समाधान ibs के लिए एलोपैथिक दवा ibs रोग चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम ibs उपचार ibs आहार ibs गोलियाँ रोक ibs के मरीजों के लिए सबसे अच्छा खाना irritable bowel syndrome (ibs) in hindi ibs disease symptoms in hindi ibs food in hindi ibs diet chart in hindi ibs disease diet in hindi ibs patient diet in hindi ibs problem foods in hindi ibs disease diet in hindi ibs diet in hindi irritable bowel syndrome symptoms in hindi irritable bowel syndrome disease in hindi irritable bowel syndrome ayurvedic treatment in hindi irritable bowel syndrome treatment in hindi irritable bowel syndrome disease in hindi irritable bowel syndrome ayurvedic treatment in hindi ibs disease treatment in hindi ibs patient diet in hindi ibs symptoms in hindi ibs syndrome in hindi irritable bowel syndrome treatment in hindi ibs syndrome in hindi ibs medicine in hindi ibs disease treatment in hindi ibs ka treatment in hindi ibs natural treatment in hindi ibs home treatment in hindi ibs treatment in patanjali hindi irritable bowel syndrome symptoms in hindi ibs symptoms and treatment in hindi ibs homeopathic medicine in hindi ibs treatment by baba ramdev in hindi best treatment for ibs in hindi ibs pain in hindi ibs ka upchar in hindi ibs ka ilaj hindi me ibs in hindi meaning ibs symptoms in hindi ibs disease in hindi ibs rog in hindiibs d in hindi ibs details in hindi ibs medicine in hindi ibs called in hindi ibs wiki in hindi ibs solution in hindi ibs food in hindi ibs bimari in hindi ibs ka hindi meaning ibs pain in hindi ibs symptoms and treatment in hind ibs treatment in hindi ibs syndrome in hind ibs pain in hindi ibs disease diet in hindi ibs disease treatment in hindi irritable bowel syndrome (ibs) in hindi ibs ka treatment in hindi ibs natural treatment in hindi ibs home treatment in hindi ibs treatment in patanjali hindi ibs treatment in hindi ibs homeopathic medicine in hindi ibs disease treatment in hindi ibs ka treatment in hindi ibs natural treatment in hindi ibs home treatment in hindi ibs treatment in patanjali hindi ibs problem solution in hindi ibs diet in hindi ibs diet chart in hindi ibs disease diet in hindi

बैक्टीरिया का सामान्य व्यवहार

दूसरा, Amoeba इस धरती पर सबसे पहले पैदा होने एक कोशकीय जीव है.

ये अपने आप को स्वयं विभाजित कर अपनी संख्या बढ़ा सकता है.

Amoeba रुके हुए पानी के स्रोतों जैसे झीलों, तालाबों या कुओं में खूब पाया जाता है.

जब ये amoeba हमारे पीने के पानी के साथ शरीर में प्रवेश करता है तो ये अमाशय के तेजाब, लिवर के पित्त व पैंक्रियास के क्षारों से भी बच निकल कर बड़ी आंत तक जा पहुँचता है.

बड़ी आंत में सामान्यत: ये वहां के बैक्टीरिया का आहार बन जाता है.

लाभकारी बैक्टीरिया पर हानिकारक बैक्टीरिया का आक्रमण

लेकिन जब हमारे बैक्टीरिया किसी कारण कम हो जाएँ या कमज़ोर हो जाएँ तो यह ये उनसे भी बच निकलता है और आंत की दीवार में छिप जाता है.

यहाँ ये फिर अपने वंश को बढाने लगता है.

जब भी कभी किसी कारण, हमारी आंत के बैक्टीरिया थोड़े निष्प्रभावी होते है ये amoeba बाहर आकर अपनी कॉलोनी बनाने लगते है.

इनके कॉलोनी बनाने के प्रयास के समय बैक्टीरिया व amoeba में भयंकर युद्ध हो जाता है जिस कारण हमें कब्ज़, दस्त, आंव, अफारा व गैस का प्रकोप झेलना पड़ता है.

यदि युद्ध के बाद amoeba पक्ष जीत जाता है तो अगले युद्ध के डर से ये अपनी जनसँख्या इतनी बढ़ा लेता है कि हमें कब्ज़ हो जाती है.

यह पक्ष आंत में अपना जमावड़ा बनाना चाहता है इसलिए वह आंतों को निष्क्रिय कर देता है; और हमें कब्ज़ हो जाती है.

यदि हमारे बैक्टीरिया का पक्ष जीतता  है तो हमें दस्त लग जाते हैं.

यह इसलिए होता है क्योकि  हमारा बैक्टीरिया पक्ष अमीबा पक्ष के जीवाणुओं को मलद्वार से बाहर निकाल कर अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहता है.

आधुनिक दवाओं का प्रकोप

IBS रोग में antibiotics, steroids व दर्द निवारक (pain killers) दवाओं के अधिक उपयोग मुख्य कारण हैं.

यह दवाएं हमारे लाभकारी बैक्टीरिया का भी सफाया कर देती हैं, जो आहार को पचाने का काम करते हैं.

जब इन दवाओं से लाभकारी बैक्टीरिया भी नष्ट हो जाते हैं तो हानिकारक विषाणुओं को आँतों में पनपने और घर बनाने का अवसर मिल जाता है.

आहार की संवेदनशीलता (food sensitivity) और एलर्जी भी IBS के कारण बन जाते हैं.

हालांकि इस बात पर वैज्ञानिकों के दो मत हैं. (1)

IBS संग्रहणी – मौसमी प्रभाव

ऊपर बताई गई बैक्टीरिया और amoeba के बीच की जंग, मौसम के बदलाव के समय अधिक उग्र हो जाया करती है.

इस कारण संग्रहणी का हमला अक्सर हर दो तीन महीने के अंतराल में अथवा मौसम के बदलाव में अधिक दुखदायी होता है.

गर्मियों व बरसात के पूरे समय ये रोग उग्र ही रहता है.

एक विशेष बात

IBS का रोग पनपने में कई वर्ष का समय लग जाता है.

इसी कारण शुरुआती दौर में इतना अनुभव नहीं होता.

इसके लक्षण धीरे धीरे पनपते हैं जिन्हें हम आरंभ में एसिडिटी, अफारा, बदहजमी इत्यादि समझकर सहते या टालते रहते हैं.

कृपया जान लें, बताये गये उदाहरण सांकेतिक है, बिलकुल सटीक नहीं.

क्योकि जीवाणुओं सम्बंधित प्रतिक्रियाएं काफी जटिल होती हैं जिन सबका उल्लेख करने पर ये लेख सैंकड़ों पृष्ठ लंबा हो सकता है.

IBS संग्रहणी से जुड़े रोग

IBS एक रोग समूह का नाम है.

इसकी कई किस्में भी होती हैं जिनमें से तीन मुख्य मानी गयी हैं.

रोग के पुराने होने पर एक किस्म दूसरी में और दूसरी किस्म तीसरी में परिवर्तित भी होती रहती है.

पुराने हो जाने पर IBS संग्रहणी पेट के कई अन्य रोगों का कारण भी बन जाती है.

जिनमें से मुख्य यह हो सकते हैं:

आँतों की सूजन (IBD), छोटी आंत की इन्फेक्शन (SIBO), Crohon’s disease,

अल्सरेटिव कोलाइटिस (UC), बवासीर (Piles), नाभि का खिसकना (Entral gastritis),

GERD, Hiatus hernia और पेट के घाव (Peptic ulcer),

जीर्ण कब्ज़ रोग (Chronic constipation) इत्यादि.

IBS संग्रहणी है कई रोगों की जननी

संग्रहणी जब पुरानी  होती जाती है तो यह कई अन्य जटिल रोगों की जननी भी बन जाती है.

इस रोग के अगले गंभीर आयाम ऑटोइम्यून बीमारियों जैसे जोड़ों के दर्द, आर्थराइटिस, डायबिटीज, थाइरोइड इत्यादि का पनपना होता है.

रोग प्रतिरोध कम होना, तनाव का अकारण बने  रहना, मानसिक खिन्नता और सेक्स लाइफ की नाकामी इत्यादि विकार भी हो जाते हैं.

शोधकर्ताओं के एक बड़ा तबका डायबिटीज, आर्थराइटिस, गाउट, उच्च रक्तचाप, बालों व दृष्टि पर दुष्प्रभाव इत्यादि के पीछे IBS को ही मुख्य कारण मानते हैं. (2, 3, 4, 5)

आगे चलकर यह समस्या मानसिक विकृति का रूप ले लेती है.

जिस कारण ये आलस्य व मनोदशा में नकारात्मक बदलाव का कारण भी बन जाती है.

चेहरे की रौनक गायब हो जाती है.

हंसने व खुश रहने के अवसरों पर भी मन खिन्नता से भरा रहता है. (6)

पेट की समस्या मन की विचारशीलता पर इतनी हावी हो जाती है कि सही सोचने समझने की शक्ति भी सही से काम नहीं कर पाती. (7)

इसे कई प्रकार के कैंसर का भी कारक माना जाता है, जिनमें गुदा, अमाशय और आंत के कैंसर मुख्य हैं.

इस रोग के कारण यौन क्षमता व कामलिप्सा (libido) पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है,

जिस कारण वैवाहिक जीवन पर भी संकट आ जाता है(8).

IBS संग्रहणी और आधुनिक चिकित्सा

अकसर पूछा जाता है; क्या संग्रहणी IBS का कोई पक्का (permanent) इलाज अथवा चिकित्सा है?

इसका जवाब है – हाँ. बशर्ते आप बताये गए नियम व खानपान पर ध्यान दें.

नहीं तो इस रोग के दोबारा पनपने में समय नहीं लगता.

sangrahni ibs problem solution how to cure ibs permanently in hindi, ibs cure and treatment in ayurveda आंतों की बीमारी आंतों की बीमारी के लक्षण आंतों का चिपकना आंतों की मजबूती पित्त संग्रहणी उदर रोग के लक्षण बड़ी आंत के रोग ibs kya hai

एलोपैथी में IBS संग्रहणी का उपचार अथवा इलाज केवल लाक्षणिक (symptomatic) रहता है, स्थाई नहीं.

मतलब, यदि गैस एसिडिटी बने तो antacid; constipation हो तो laxatives; दस्त हों तो antibiotics व anti-prozoal इत्यादि.

एलोपैथी में IBS का कोई कारगर व स्थाई उपचार नहीं है.

IBS संग्रहणी – वैकल्पिक चिकित्सा

आयुर्वेद और वैकल्पिक चकित्सा में IBS संग्रहणी रोग को बहुआयामी उपचार से ठीक किया जा सकता है.

जिसका मतलब है पाचन तंत्र में मूलभूत बदलाव ला कर उसे फिर से अपने वास्तविक स्वरूप में लाना.

रोग में खानपान का बदलाव भी करना होता है.

उद्देश्य रहता है कि पाचन क्रिया के सभी अंगों में फिर से सामंजस्य स्थापित किया जाए.

क्योंकि इस रोग के पनपने में काफी वर्षों की अवधि रहती है,  इस कारण इसे सुधारने में भी उपयुक्त समय देना होता है.

इसी लिये बहुआयामी उपचार आवश्यक हो जाता है.

इस उपचार में मुख्यत: इन पहलुओं पर औषधियां दी जाती हैं, जो सभी एक निर्धारित क्रम में लेनी होती हैं :

1 विषाणुओं का सौम्य योगों द्वारा उन्मूलन

2 निर्धारित क्रम में पेट की सफाई

3 लाभकारी बैक्टीरिया को बढ़ाना

4 पेट और आंत के घाव या उग्रता का उपचार

5 IBS के ऑटोइम्यून दुष्प्रभावों का निवारण

संग्रहणी रोग की चिकित्सा रोग एवं रोगी की आयु, देह रचना को समझ कर ही की जा सकती है.

जैसे कि, पित्त प्रकृति रोगी का उपचार वात प्रकृति के रोगी से भिन्न रहता है.

IBS संग्रहणी का इलाज

आयुर्वेद सेंट्रल द्वारा IBS संग्रहणी के पूरे उपचार के लिए तीन से पांच औषधियों और सप्लीमेंट्स का कोर्स दिया जाता है

इस लिंक पर पढिये, क्या है IBS संग्रहणी का पूरा इलाज

इस रोग सम्बन्धी सलाह या उपचार के लिये आप अपना विवरण इस लिंक पर दे कर उपचार सम्बन्धी जानकारी, परामर्श व इलाज के विकल्प जान सकते हैं.

IBS संग्रहणी सम्बंधित अन्य लेख

IBS संग्रहणी सम्बन्धी कुछ अन्य लेख इन लिंक्स पर देखे जा सकते हैं.

जानिए क्या हैं संग्रहणी IBS की किस्में

जानिये क्या हैं आँतों की सूजन (IBD) के लक्षण, कारण और इलाज

छोटी आंत में संक्रमण (SIBO) के लक्षण और उपचार

IBS संग्रहणी और आँतों की सूजन (IBD) में फर्क और समानतायें

कब्ज़ (constipation) के लक्षण, कारण और इलाज उपाय

सारशब्द

IBS संग्रहणी एक ऐसा रोग है जो अन्य कई रोगों जैसे कि गठिया, डायबिटीज, लिवर रोग, किडनी रोग इत्यादि को जन्म दे सकता है.

यह जीवन को खिन्नता से भी भर देता है जिससे जीवन की उमंग ही कम होने लग जाती है.


Digiprove sealCopyright protected by Digiprove © 2017
शेयर कीजिये

सुझाव दीजिये - कमेंट कीजिये

Posted in Disease & Cure रोग निदान, Health Facts स्वास्थ्य सार, Home Remedies घरेलू नुस्खे, IBS संग्रहणी.

2 Comments

Comments are closed.